Sunday, January 3, 2010

बुद्धि नष्ट होने से प्राणी स्वयं नष्ट हो जाता है




क्रोध
से

मूढ़ता उत्पन्न होती है,

मूढ़ता से

स्मृति भ्रान्त हो जाती है,

स्मृति भ्रान्त होने से

बुद्धि का नाश हो जाता है

और बुद्धि नष्ट होने से

प्राणी स्वयं नष्ट हो जाता है


- वेद व्यास



2 comments:

काजल कुमार Kajal Kumar said...

बड़े विचार हैं जी.

Rekhaa Prahalad said...

Kitani koshis ke baad bhi krodh par control nahi hota ab ved vyasji ke in vicharo ko jeevan me utarna hi padega.