Friday, January 8, 2010

जो तुम्हारे हाथ में है...........




हज़ार बरस जो बीत गये


और


हज़ार बरस जो आने वाले हैं,


इन सबसे बढ़ कर


वह समय है


जो तुम्हारे हाथ में है



- शिबली मौलाना



4 comments:

जी.के. अवधिया said...

बहुत सुन्दर विचार अलबेला जी!

काल करे सो आज कर आज करे सो अब्ब।
पल में परलय होयगा बहुरि करेगा कब्ब॥

राजीव तनेजा said...

सत्य वचन ...आने वाले सुंदर कल के चक्कर मे हम अपना आज खराब कर डालते हैं

Babli said...

एकदम सही लिखा है आपने! अत्यंत सुन्दर विचार!

Rekhaa Prahalad said...

Bahut abhaar aapka, aap chun-chun kar itne uttam viacharo se hume avagat karate hai.