Wednesday, January 6, 2010

एक पंख से उड़ना नितान्त असम्भव है




स्त्रियों की


अवस्था में


सुधार होने


तक विश्व के कल्याण का


कोई मार्ग नहीं


किसी पक्षी का


एक पंख से


उड़ना


नितान्त


असम्भव है



- स्वामी विवेकानन्द



1 comment:

Rekhaa Prahalad said...

स्वामी विवेकानंद जी ने सत्य कहा, काश ये समाज समझ सकता तो कितना अच्छा होता