Friday, January 15, 2010

तलाश व्यर्थ है



यदि तुम्हें

अपने भीतर

शान्ति नहीं मिलती

तो बाहर

उसकी तलाश व्यर्थ है


- रोशे


2 comments:

Rekhaa Prahalad said...

ओह्ह्हह्ह्ह्ह एक लम्बी साँस:(

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

सुन्दर और आदर्श सूक्ति!