Friday, November 13, 2009

कन्फ़्यूशियस ने कहा........



सभ्यता


तब तब खतरे में पड़ जाती है

जब जब

उन लोगों को

अधिकार देने का आदेश मिल जाता है,

जिन्होंने

कभी आदेश नहीं माना



-कन्फ़्यूशियस



10 comments:

MANOJ KUMAR said...

जीवन की अभिव्यक्ति का सच।

Suman said...

जिन्होंने

कभी आदेश नहीं माना. nice

जी.के. अवधिया said...

धन्यवाद आपका कि आपके पोस्ट के माध्यम से दार्शनिकों एवं विचारकों के विचार पढ़ने को मिल रहे हैं!

गिरिजेश राव said...

बहुत कुछ सोचने के लिए है इसमें।
व्यवहारिक होना चीनी दर्शन की खासियत है।
यह उक्ति इसका प्रमाण है।

पी.सी.गोदियाल said...

एकदम कठोर सत्य !

Nirmla Kapila said...

बहुत सही बात शुभकामनायें

SACCHAI said...

" kathor saty bahut hi badhiya sir aapke is blog ki tarif karain utani kum hai .."

---- eksacchai { AAWAZ }

http://eksacchai.blogspot.com

POTPOURRI said...

कन्फ़्यूशियस ne is sach ko kitni achhi tarah se vyakt kiya hai, iske mayne yeh hua ki unke samay se aisa hi hota aa raha hai jo vartman me hamaare desh me bade paimane pe ho raha hai!!
ise prakashit karne ke liye abhinandan.

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बिल्कुल सत्य कहा !!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

चीनी सन्त कन्फ़्यूशियस को नमन!