Monday, November 9, 2009

श्रेष्ठ पुरूष केवल मान की ही कामना करते हैं -चाणक्य

निम्न श्रेणी के लोग केवल धन की कामना करते हैं,

मध्य श्रेणी के लोग धन और मान दोनों की कामना करते हैं

परन्तु
श्रेष्ठ पुरूष केवल मान की ही कामना करते हैं

मान ही श्रेष्ठ पुरुषों का धन है


-चाणक्य

1 comment:

Rekhaa Prahalad said...

shrestha banana sab ke bas me nahi hai!